वह हंस कर के उनका जादू बिखेरना

वह हंस कर के उनका जादू  बिखेरना
अदाएं वो कातिल रूमानी याद आ गई

गालों पर दहकते हुए हसीन से पलाश
प्यार की वो सुर्ख निशानी याद आ गई

मुहब्बतों  की  बारिशों में भीगती  हुई
वो दिल्लगी वो जिंदगानी याद आ गई

Favorite Posts