दिल से मिला के दिल, प्यार कीजिये

दिल से मिला के दिल, प्यार कीजिये
कोई सुहाना इक़रार कीजिये

शरमाना कैसा, घबराना कैसा
जीने से पहले, मर जाना कैसा
फ़ासलों की छाँव में
रस भरी फ़िज़ाओं में
इस ज़िन्दगी को गुलज़ार कीजिये, दिल से ...

आती बहारें, जाती बहारें
कब से खड़ी हैं, बांधी कतारें
छा रही है बेखुदी
कह रही है ज़िन्दगी
दिल की उमंगें बेदाद कीजिये, दिल से ...

दिल से भुला के, रुसवाइयों को
जन्नत बना लें, तनहाइयों को
आरज़ू जवान है
वक़्त मेहरबान है
दिल खो न जाए खुशी यार कीजिये, दिल से ...

Favorite Posts